गुरुवार, 30 जून 2016

आवाज फट जाने या बैठ जाने पर अदरक राम बाण की तरह काम करता है ।

आवाज फट जाना या बैठ जाने पर अदरक राम बाण की तरह काम करता है ।


 जब किसी भी गायक का आवाज बैठ जाय तो अदरक का प्रयोग जरूर करनी चाहिए ।


कभी- कभी अत्यधिक ठण्ड   या अधिक गर्मी , ठंडा - गर्म पानी या पेय पदार्थ  पिने से आवाज बैठ जाता है ( गला बैठ जाता है ) । कभी कभी ऊँची आवाज या अत्यधिक बोलने से आवाज बैठ जाता है , ऐसा समस्या अधिकांशतः  गायक ( सिंगर ) के साथ आता है ।
इसे दूर करने के लिए अदरक अचूक दवा है ।

प्रयोग विधि - 


( 1 )
एक गाँठ अदरक को लेकर उसे चटनी की तरह पीस ले और उसमे दो लवंग और थोड़ी सी हींग को पीस कर मिला दे । फिर उसे शहद के साथ चाटे ।
 कैसी भी बैठी हुई आवाज क्यों न हो , तुरन्त ठीक हो जायेगी ।

(२) 100 ग्राम सौंठ , 2 ग्राम हींग एंव 4 ग्राम लौंग को पीस कर उसमे एक चुटकी नमक डाले ।फिर उस चूर्ण को सुबह शाम हल्का गर्म पानी से ले । गला तुरन्त ठीक हो जाएगा।

( 3 ) अदरक के रस को शहद के साथ लेने से यह छाती में जमे बलगम को निकालने में राम बाण की तरह काम करता है ।

मंगलवार, 7 जून 2016

अदरक नस नाड़ियो को स्वच्छ कर पुरुषो के मर्दानी ताकत को बढ़ाता है ।अदरक में पुंसत्व की शक्ति होती है । अदरक ( आदी ) नामर्दो को मर्द बनाती है ।

अदरक नस नाड़ियो को स्वच्छ कर पुरुषो के मर्दानी ताकत को बढ़ाता है ।अदरक में पुंसत्व की शक्ति होती है । अदरक ( आदी ) नामर्दो को मर्द बनाती है ।

        अदरक का जन्म धरती की गर्मी में एक जड़ के रूप में होता है ।लेकिन यह मानव जीवन को प्राण वायु देती है ।इसकी जड़ में ऐसी अदभुत शक्ति होती है जो सैकड़ो रोगों को पछाड़ कर मानव शरीर में ऊर्जा प्रदान कर देती है । इसके सेवन से यह छाती में जमे हुए कफो को निकाल कर यह नसों को धो देती है ।यह सांसो से दुर्गन्ध को निकाल देती है । यह नस नाड़ियों में जमे श्लेष्मा को निकालकर साफ़ कर देती है ।इस प्रकार अदरक एक ओर शरीर में प्राण वायु का संचार करती है तो दूसरी ओर अशुद्द वायु को धक्के देकर बाहर कर देती है । इसके साथ ही अदरक के सेवन से पुरुषो में सांड की तरह शक्ति आजाती है ।आजकल पौरुष बल बढ़ाने के सैकड़ो दवाये चल गयी है ।डाक्टर , बैध , हकीम लोगो को मर्दानी ताकत बढ़ाने के नाम पर खूब ठगाई करते है ।नासमझ व्यक्ति इनके चंगुल में फस कर धन के साथ साथ अपने प्राकृतिक पौरुष बल को भी खो देते है ।ऐसे लोगो को अदरक का प्रयोग करनी चाहिए इसे उनका पौरुष बल सौ गुना बढ़ जायेगा ।इस प्रकार अदरक नामर्दो को मर्द बनाती है ।अदरक जिगर के खराबी को ठीक कर उसे शक्तिशाली बनाती है ।यह रक्त की सफाई कर देती है । यही शुद्ध रक्त जब यौननेंद्रियों में जाई है तो मनुष्य का मर्दानी ताकत किलकारी मारकर कूदने लगता है ।चरक ने लिखा है क़ि अदरक में सांड की तरह शक्ति होती है । अतः हमे इसकी शक्ति को पहचाननी चाहिए ।
   प्राचीन आयुर्वेद शास्त्रियों ने अदरक को बलवर्द्धक बताया है ।यूरोप में प्रतिवर्ष भारत से ही हजारो टन अदरक जाता है ।यूरोपवासी इसे इंडियन जिंजर कहते है ।वे लोग इसका प्रयोग प्रयोग टॉनिक या स्वास्थ्यवर्धक औषधि के रूप में करते है । इसके खाने से मनुष्य का वदन गठीला और ताकतवर बनजाता है जिसे मनुष्यो में अपने आप पौरुष बल बढ़ जाता है ।पुरुषार्थी वह होता है जो साहस के साथ कठिनाइयों को जीतते हुए आगे बढ़ता है ।अदरक व्यक्ति को एसे ही जीवन जीने की शक्ति स्फूर्ति प्रदान करती है । आज इसका महत्व सारा संसार में है ।शरू में यूरोप और अफ़्रीकी देशो में इसके प्रयोग सिर्फ पौरुषबल बढ़ाने के रूप में किया जाता था पर अब धीरे - धीरे इसके अन्य उपयोगो से भी वे परिचित हो गए । आज थोड़ी बहुत अदरक सभी देशो में पैदा होती है । इससे अनेको मूल्यवान दवाइयाँ भी बनने लगे है ।पता नही अदरक के खाने से हम मुँह क्यों बिचकाते है ?
   प्रयोग बिधि - इसका सेवन चटनी , आचार या सब्जी में किसी भी तरह करे यह फायदा ही पहुचाता है ।
  रात्रि को सोते समय एक चम्मच सोंठ अदरक दो , पिसी हुई लवंग और थोड़ी सी मिश्री को खा कर ऊपर से एक ग्लास दूध पिले । इसे नामर्दी दूर हो जाती है ।

   

रविवार, 5 जून 2016

यौन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय  , सफेद प्याज के मुरब्बा यौन शक्तिबर्धक

यौन शक्ति बढ़ाने के घरेलू उपाय 

यौन शक्तिवर्धक सफ़ेद प्याज का मुरब्बा।



प्याज एक प्राकृतिक यौन शक्ति वर्धक और शीघ्रपतन को दूर कर स्तम्भन बढ़ाने वाला हैं। सफ़ेद प्याज का प्रयोग एक ऐसा प्रयोग है जो एकदम सस्ता हैं और जिसको आप प्रतिदिन प्रयोग करके 80 साल की आयु में भी अनेको स्त्रियों के साथ रमण कर सकेंगे। कमज़ोरी नाम क्या होता हैं सब भूल जायेंगे।
   
    प्याज के मोरब्बा बनाने की बिधि


सफ़ेद प्याज – पैतालीस 45 पीस
शुद्ध शहद – आवश्यकतानुस

सर्वप्रथम सफ़ेद प्याज का छिलका उतार लीजिये, अब इन प्याज में किसी सलाई की मदद से बीच बीच में 8-10 छेद कर दीजिये। सभी प्याज में ऐसे छेद कर लीजिये। और इन सब प्याज को एक कांच के बर्तन में डालकर रख लीजिये। कांच का बर्तन तीन चौथाई तक भरे। अब इस बर्तन को शुद्ध शहद से पूरा भर दीजिये। इसको 45 दिन तक ढक कर रख लीजिये। 45 दिन बाद आपका बेजोड़ यौन शक्ति वर्धक प्याज का मोरब्बा तैयार हो जायेगा।



सेवन विधि।

प्रति दिन रात को सोने से १ घंटा पहले ये बना हुआ मुरब्बा एक पीस खा लीजिये। इसको प्रतिदिन खाने से आप में घोड़े से भी ज़्यादा बल आ जाएगा। शरीर में खून की आपूर्ति हो जाएगी। चेहरा लाल टमाटर जैसा खिल जायेगा। और बुढ़ापे का अनुभव तो कभी नहीं होगा। सदा जवान रहेंगे।

सावधानी।

खट्टी चीजो, फ़ास्ट फ़ूड, कोल्ड ड्रिंक्स, धूम्रपान, शराब आदि का सेवन ना करे। इस प्रयोग का सम्पूर्ण फायदा लेने के लिए प्रयोग काल के प्रथम 25 दिन सम्भोग नहीं करना। उसके बाद भले निरंतर सम्भोग करते रहे। इस से ऐसी ताक़त मिलेगी जिसके आगे सब दवाये फेल हैं। और मन सदैव शांत रखे, हमेशा स्त्री गमण के बारे में सोचने से धातु कमज़ोर होती हैं और शक्ति का नाश होता हैं। अधिक सहवास करना सेहत के लिए नुकसानदेह हैं। शरीर से ओज तेज़ का नाश होता हैं। ये प्रयोग उन लोगो के लिए ही बताया हैं जो लोग अपनी शादी शुदा ज़िंदगी से परेशान हैं। और बचपन की गलतियों की वजह से अपना जीवन नरक समान बना लिया हैं।
       निरन्तर सेवन के लिए 45 दिनों के इसी तरह पुनः बनाले ।




शुक्रवार, 3 जून 2016

अदरक (आदी ) मनुषयो को युवा बनाती है , साथ ही आँखों को चमक देती है ।

अदरक (आदी ) मनुषयो को युवा बनाती है , साथ ही आँखों को चमक देती है ।

     अदरक के सेवन से मनुष्य सर्वदा युवा बना रहता है ।


             अदरक के अनेको फायदे है समय के साथ - साथ स्त्री - पुरुष दोनों वृद्धावस्था को प्राप्त होते है । स्त्री शरीर से होती है एवं पुरुष मन से परन्तु जो स्त्री - पुरुष अदरक का सेवन किसी न किसी रूप में करते रहते है । वे देखने में भले ही बूढ़े लगने लगे पर भीतर से वे युवा होते है । सचमुच वे दीर्घायु होते है क्योकि अदरक रोगों को भगाती है । जब शरीर रोगों से रहित होगा तो बूढ़ा भी क्यों होगा ? अदरक खाने से त्वचा का चिकनापन बढ़ता है । शरीरी के सभी अंग सुचारू रूप से काम करते रहते है । मन को निर्मल बनाने में भी अदरक का बड़ा हाथ होता है ।अदरक के " सेंटिनलतत्व " शरीर के अंदर काम करने वाले मशीनों को लुब्रिकेशन प्रदान करता है । अदरक के सेवन से शरीर हल्का एवं शांत रहता है ।

             अदरक नेत्रो को चमकीला बनाता है ।यह बात बिलकुल सत्य है की हम दाल , सब्जी , चाट आदि में अदरक डालते है तो यह केवल स्वाद न बढ़ाकर आंतो को दुरुस्त रखती है । जब आंत ठीक रहता है तो माथा स्वस्थ रहता है । माथा मुख का अंग है जो आँखों को किरण प्रदान करता है ।इसलिए अदरक के सेवन से आँखों की रौशनी बरकरार रखती है । इसलिए अदरक को खाने में निश्चित रूप से सेवन करनी चाहिए ताकि यह पेट को ठीक कर आँखों को बल प्रदान करे । इसतरह अदरक के सेवन के अनेको फायदे है ।