रविवार, 6 मार्च 2016

नपुसंकता को दूर करता है नीम

 


नपुसंकता को दूर करता है नीम  

----------------------------------

 नीम इतनी बढ़िया चीज है की इसका सीधा प्रभाव हमारे मन , मस्तिष्क और इन्द्रियों पर पड़ता है ।इसके सेवन से इन्द्रियाँ सशक्त होकर हमे एकाग्रता की और ले जाती है ।यदि स्वस्थ व्यक्ति भी इसका सेवन करता है उसे रोग दूर ही रहता है ।नीम का रेशा - रेशा हमारे शरीर में पहुच कर हमारे आंतो में घुस कर नाड़ियों को साफ़ कर देता है ।इस प्रकार नीम का कड़ुआपन मिठास में परिवर्तन होकर हमारे नाड़ियों को साफ कर देता है । नीम को खाने से त्वचा के सारे रोगों को दूर कर देता है ।यह बिलकुल सच है कि नीम अनेको प्रकार के रोगो को नष्ट कर देती है ।आस - पास भी बिमारी फैलने नही देती ।नीम के सेवन से इंद्री मजबूत हो जाती है ।नपुंसकता दूर हो जाती है साथ ही सेक्स पावर को बढ़ा देता है ।नपुंसकता आम रोग नही है इसलिय जब कभी नपुंसकता की आभास होतो निम् की सेवन जरूर करनी चाहिए ।

 


 नपुंसकता दूर करने की प्रयोग बिधि :-


 (1) दो चम्मच नीम के रस सुबह सेवन किया जाय तो नपुंसकता दूर हो जाती है साथ ही पौरुष बल बढ़ जाती है ।
(2) नपुंसकता विरोधी तेल से भी रोगी को बहुत फायदा होता है । बनाने की आसान विधि - 100 ग्राम नीम के छाल , 100 ग्राम बेल के छाल , नगरमोथा 100 ग्राम , त्रिफला 100 ग्राम ' आँवला 2 किलो , गिलोय 2 किलो सब को कूट पीस कर तील के 500 ग्राम तेल में पकाये ।जब आधा रह जाए तो इसे आग से उतार कर ठंडा कर कपड़ा से छान कर बोतल में भर ले । सुबह शाम इस तेल से इंद्री को मालिश करे । 10 से 15 दिनों में ही लिंग में कड़ापन आने लगेगा । इस तेल को लगाने के बाद पानी से न धोये ।

प्रतिक्रियाएँ:

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें