रविवार, 20 मार्च 2016

नीम -मधुमेह ( चीनी ) या डायबिटीज के बिमारी का दुश्मन है ।

नीम -मधुमेह ( चीनी ) या डायबिटीज के बिमारी का दुश्मन है ।

             इस बिमारी में रोगी को नीम की छाल की काढ़ा पीनी चाहिए । 50 ग्राम निम के छाल को एक कप पानी में औट ले ।आधा कप रह जाए तो इसे छान कर सुबह पीले । इस रोग में करेले की सब्जी लाभदायक होता है ।खान पान में सयंम रखे । मधुमेह में खजूर जरूर खानी चाहिए ।क्योंकि खजुर में मधुमेह को नष्ट करने की शक्ति होती है ।यधपि खजूर मीठा होता है पर खजूर में मधमेह को दूर करने के गुण पाये जाते है । अतः खजूर का सेवन सात्विक भोजन करने बाद ही करनी चाहिए । एक बार में 100 ग्राम से अधिक नही खानी चाहिये । खजूर खाने के बाद पानी नही पीनी चाहिए ।पर कुल्ला जरूर कर ले ।इस तरह कुछ दिनों तक नीम के काढ़े के सेवन से मधुमेह कन्ट्रौल हो जाता है ।
प्रतिक्रियाएँ:

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें