सोमवार, 14 मार्च 2016

नीम लाख रोगों का एक दवा है 

नीम लाख रोगों का एक दवा है 


यह सत्य है की नीम लाख रोगों का अकेली दवा है ।निम् की हवा हमारे आसपास की वातावरण को शुद्द करती है ।निम् की पत्ती सफेद दाग को स्वभाविक रंग में बदल देती है ।नीम का फूल आँखों के समस्त रोगों को ठीक कर देती है । इसके छाल फोड़े - फुंसी को सुखा देती है ।नीम कै , दस्त , हैजा , मलिरिया , पुराना ज्वर , गठिया , चरम रोग आदि रोगों की अचूक औषधि है ।यह बेजान में जान डाल देती है । नीम के लकड़ी के फर्नीचर बनवाये तो इसमें कभी भी घुन नही लगता । क्योंकि निम् के लकड़ी में प्रोटीन , कैल्शियम , विटामिन ए , एवं गन्धक प्रचुर मात्रा में पाया जाता है । हम नीम के गुणों की बखान करते करते थक जाएंगे पर इसके गुणों की बखान पूरा नही हो पायेगी ।इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को निम् का सेवन प्रतिदिन किसी न किसी रूप में जरूर करनी चाहिये ।कम से कम नीम का दातुन प्रतिदिन जरूर करनी चाहिए ।

प्रतिक्रियाएँ:

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें