शनिवार, 12 मार्च 2016

नीम हमारे मुख पर कील मुहांसे को दूर कर हमारे सारे ज्ञान तंतुओ को खोल देती है ।

नीम हमारे मुख पर कील मुहांसे को दूर कर हमारे सारे ज्ञान तंतुओ को खोल देती है ।



            नीम का सीधा प्रभाव हमारे मन मस्तिष्क और इन्द्रियों पर पड़ता है ।इसके सेवन से इंद्री सशक्त हो कर हमें एकाग्रता की ओर ले जाती है । इसका कड़ुआपन मिठास में परिवर्तित हो कर नाड़ियो को साफ़ कर इन्द्रियों को नई ऊर्जा प्रदान करता है ।निम् का सेवन करने से हमारे त्वचा के ऊपर वाले पनपने वाले विजातियो को काट कर हमारे त्वचा को उज्ज्वल बना देता है । यह अनेको प्रकार के बीमारियो को नष्ट कर हमारे आस पास बिमारी फैलने नही देता है ।


    मुख पर कील मुहांसे को दूर करने के लिए निम के प्रयोग विधि :- 


कील मुँहासे अधिकांशतः युवा अवस्था में रक्त के गर्मी के कारण होता है । जब कभी भी कील मुँहासे हो जाए तो इसे नोचना नही चाहिए । इसके लिए सुबह शाम एक चम्मच नीम के रस का सेवन करे इसे रक्त की गर्मी शांत हो जायेगी । और कील मुँहासे ऑख जायेंग एवं नए निकलने भी बन्द हो जायँगे ।

        दूसरी विधि - 10 ग्राम निम् के पती के रस , 10 ग्राम पठानी लोथ , 5 ग्राम अनार के छिलके को सुखाकर कूट पीस ले ।इसके बाद इसको नीम के तेल में मिलाकर किसी शीशी के जार में रख दे ।और जब कील मुहांसे हो तो इस तेल को कील पर लगाये ।कुछ दिनों बाद कील मुहांसे सुख जाएंगे और नए कील निकलना बन्द हो जाएंगे ।



प्रतिक्रियाएँ:

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें